यादे शायरी हिन्दी में yaade shayari hindi me hindi shayari






यादे शायरी हिन्दी में yaade shayari hindi me hindi shayari

 कोई छुपाता है, कोई बताता है,
 कोई रुलाता है, तो कोई हंसाता है,
 प्यार तो हर किसी को ही किसी न किसी से हो जाता है,
 फर्क तो इतना है कि कोई अजमाता है और कोई निभाता है


Koi chhupata hai koi bataata hai
Koi rulaata hai to koi hasata hai
Pyar to har har kisi ko hi kisi na kisi se ho jata hai
Phark to itna hai ki koi ajamata hai or koi nibhata hai


   बीते पल वापस ला नहीं सकते,
 सूखे फूल वापस खिला नहीं सकते,
 कभी - कभी लगता है आप हमें भूल गए,
 पर दिल कहता है कि आप हमें भुला नही सकते.

Bite pal bapas la nahi sakte 
Sukhe phul bapas khil nahi sakte 
Kabhi kabhi hame lagta hai aap hame bhul gaye
Par dil lahta hai ki aap hame bhul nahi sakte

  
 दिल के सागर में लहरें उठाया ना करो,
 ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो,
 बहुत चोट लगती है मेरे दिल को,
 तुम ख्वाबो में आकर युँ तडपाया ना करो

Dil ke Sager me lahare uthaya na karo
Khabab bankar nind churaya na karo
Bahut chot lagti hai mere dil ko
Tum khababo me aa kar u tarpaaya na karo

सूरज आग उगलता है
सहना धरती को पड़ता है
मोह्हबत निगाहे कराती है
सहेना दिल को पड़ता है…

Suraj aag ugalta hai 
Sahna dharti ko padta hai
Mohabat nigahe karaati hai
Sahna dil ko padta hai

हम कह पाते काश उन्हें के उन्ह दिल में बसाया है
दुनिया की निगाहों से उन्हें हमेशा छुपाया है
हम ज़ाहिर नहीं करना चाहते है अपने दिल की आशिकी को
के हमने अपने यार को ही अपना रब्ब बनाया है




Ham kah pate kaas unhe dil me basaya hai
Duniya ke nigao se unhe hamesa  chupaaya hai
Ham jahir nahi karna chahte hai apne dil ki aashki ko
Ki hamne apne yaar ko hi apna khabab banaya hai


अपनो को दूर होते देखा ,
सपनो को चूर होते देखा !
अरे लोग कहते हैँ कि फूल कभी रोते नही 
हमने फूलोँ को भी तन्हाइयोँ मे रोते देखा

Apno ko dur hote dekha hai
Sapno ko chur hote dekha hai
Are log kahte hai ki phul bahi rote nahi
Hanme phul ko bhi tanhayio me rote dekha hai